राफेल के शस्त्र पूजन को कांग्रेस ने बताया ड्रामा

0

भारत को उसका पहला फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल मिल गया है. राफेल के आने से पहले जितना राजनीतिक तूफान आया था, अब भारत को मिलने के बाद एक बार फिर विवादों ने जन्म दे दिया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में शस्त्र पूजा करने के साथ ही राफेल विमान को रिसीव किया, इस दौरान राफेल पर नारियल चढ़ाया, ‘ऊँ’ का निशान बनाया और राफेल के पहियों के नीचे नींबू दिखाई दिए. अब कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने इस तरह की पूजा पर सवाल खड़े कर दिए हैं और सरकार पर निशाना साधा है.

कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा राफेल विमान रिसीव करने पर ही सवाल कर दिया, उन्होंने कहा कि आखिर इसे रक्षा मंत्री ने क्यों रिसीव किया, ये काम वायुसेना ही कर सकती थी. उन्होंने कहा कि ये सिर्फ एक नया लड़ाकू विमान ही है जो हमें मिल रहा है.

राफेल विमान पर नींबू पर उन्होंने कहा कि विजयदशमी और राफेल विमान की जोड़ी मैच नहीं खाती है. संदीप दीक्षित बोले कि दशहरा एक त्योहार है, जिसे हम सभी मनाते हैं, लेकिन आप इसे आने वाले एयरक्राफ्ट से क्यों जोड़ रहे हैं. इस सरकार के साथ यही दिक्कत है कि काम करने के साथ नाटक ज्यादा किया जाता है.

ना सिर्फ कांग्रेस बल्कि राफेल की इस शस्त्र पूजा ने सोशल मीडिया पर भी एक नई बहस को जन्म दे दिया है. सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे हैं कि ऐसा पहली बार ही हुआ है जब दुनिया ने ऐसा कुछ देखा हो, या फिर कुछ लोगों ने लिखा कि भारत ने आखिरकार राफेल को देसी बना दिया. इसके अलावा राफेल के नींबू-नारियल पर कई मीम भी बन रहे हैं.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस में राफेल विमान उड़ाया और भारत के लिए इसे रिसीव भी किया. ऐसा पहली बार हुआ कि जब किसी बड़े लड़ाकू विमान की भारतीय खेमे में एंट्री इस तरह हुई, जब पूरी दुनिया भारत की शस्त्र पूजा को देख रही थी.

राजनाथ सिंह ने शस्त्र पूजा करते हुए पहले राफेल विमान पर ऊँ लिखा, पहिए के आगे नींबू रखा गया ताकि किसी की नज़र ना लगे. इसके अलावा राफेल पर मीठा रखा गया, नारियल फोड़ा गया. यानी शस्त्र पूजा के दौरान पूरे विधि-विधान का ध्यान रखा गया

About Author

Leave A Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com