सारण:कोरोना लॉकडाउन में सेवा भाव के साथ जनसहयोग के साथ भूखों को मुफ़्त खाद्य सामग्री पहुंचा रहा माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन।

0

छपरा:मोनालिसा:

कोरोना वायरस की भयावह स्थिति को देखते हुए अगले तीन सप्ताह के लिए जो लॉकडाऊन की घोषणा की गई हैं, उसमें असहाय एवं जरूरतमंदो को माँ यूथ ऑर्गेनाईजेशन द्वारा मदद करने का निर्णय लिया गया है।कोरोना और लाॅकडाउन,इन दोनों शब्द के बारे में अब किसी को बताने की जरूरत नहीं है। जरूरत हैं अब गरीब/असहाय व्यक्ति को मदद करने का जब कोई काम पर जाएगा ही नहीं तो ऐसे स्थिति में आर्थिक संकट से जुझेगा। सरकार के द्वारा इन्हें जनवितरण प्रणाली दुकानों के माध्यम से राशन सामग्री एवं अन्य सहयोग पहुंचाया जाना है।परन्तु इसके अलावे भी हमारे आस-पास ऐसे कुछ परिवार हैं जिनके पास जमीन के नाम पर घर के अलावा कुछ भी नहीं है और किसी भी प्रकार का सरकारी सहयोग व राशन नहीं उन्हें मिल पा रहा है।उनके घर कोई ऐसा कमानेवाले भी नहीं होते है जो कुछ भी राशि का संग्रह किये हो। इस स्थिति में जब वह परिवार कमाएगा हीं नहीं तो खाएगा कैसे?ऐसे में जरूरत हैं सम्पन्न लोगों एवं सामाजिक लोगों को आगे आने की, जिससे किसी का पड़ोसी भुखे न सोये।इसी को ध्यान में रखकर माँ यूथ ऑर्गनाइजेशन अपने क्षेत्र के असहाय लोगों के लिए उनके साथ खड़ा हो रहा है।आप सब भी इस हेतु इसमें सहयोग कर सकते है।इस हेतु संगठन के द्वारा 14 अप्रैल 2020 तक हेतु एक पांच सदस्यीय समिति बनाने का निर्णय लिया गया है जो कि निम्नवत होगी:-

1.बाबा दामोदर दास 2.श्री कन्हैया सिंह तूफानी 3.श्री राजेश सिंह 4.श्री सुबोध राय 5.श्री सुबोध सिंह नीचे पोस्ट में दिए गये मोबाइल नम्बर्स पर आप सम्पर्क कर सकते है। ये व्यक्ति आपकी/सम्बंधित व्यक्ति को अनाज की आवश्यकता के सम्बंध में उपादेयता की जाँच वहां के जनप्रतिनिधियों व राशन दुकानदार से करेंगे।अगर इन्हें लगेगा कि सम्बंधित याचक पात्र लाभुक बनने योग्य है, तब उनके द्वारा इस समिति के किसी भी सदस्य को सूचीत करेंगे।समिति के किसी भी सदस्य द्वारा इसकी अनुमति मिलने पर याचक को अनाज दिया जा सकेगा।इसके अतिरिक्त यदि समिति के सदस्यों को सीधे भी किसी को अनाज दिलवाने की ज़रूरत महसूस होगी तो वे इस हेतु सीधे आदेश दे सकते है।वर्तमान में जलालपुर बाजार के किसी किराना दुकान या नजदीकी दुकान पर उस पात्र लाभुक को कॉल करके भेजा जायेगा।आगे अन्य जगहों पर भी ऐसी व्यवस्था करने की कोशिश की जाएगी। पात्र लाभुक वहां से परिवार के प्रत्येक व्यस्क सदस्य के हिसाब से 02-02 kg चावल एवं 150-150 gm सोयाबीन मुफ्त प्राप्त कर लेंगे।इस हेतु संगठन के सदस्य टेलीफोनिक संपर्क दुकानदार से स्थापित कर लेंगे एवं ऑनलाइन राशि दुकानदार के खाते में हस्तांतरित कर दी जाएगी।साथ ही सामाजिक नैतिकता के दृष्टिकोण से सहायता प्राप्त करनेवाले की पहचान आदि छिपाने की कोशिश रहेगी। संगठन के फेसबुक वॉल से पहचान के सम्बन्ध में किसी भी जानकारी को ज़ारी नहीं किया जाएगा।

About Author

Leave A Reply

WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com