• Copyright © 2017 RastraSoch.com. Powered by Sublime WebTech.
  • About


    सलाहकार संपादकः-प्रवीण चौहान   सलाहकार संपादकः-सुजाता सिंह


    संपादकः-अश्विनी कुमार             सह संपादकः-देवेंद्र शर्मा ‘देबू’

  • RASTRASOCH

    "राष्ट्र सोच"राष्ट्र प्रेम और कर्तव्यनिष्ठा की भावना से ओत-प्रोत एक ऐसा मंच है,जो आपके विचारों की प्रखरता को पूरी आजादी के साथ विश्व पटल पर प्रेषित करता है।उसकी इस भावना के पीछे छुपी हुई है वह "सोच"जो राष्ट्र निर्माण की भावना से अभिसिंचित है।वास्तव में राष्ट्र निर्माण एक ऐसी परिकल्पना है जिसमें राष्ट्र से जुड़े हर पहलू का ध्यान रखना आवश्यक है।
    कुछ लोग राष्ट्र निर्माण मात्र और मात्र राजनीतिक प्रतिनिधित्व से जोड़कर देखते हैं,परन्तु राष्ट्र निर्माण मात्र राजनीति से ही नहीं होता,राष्ट्र निर्माण होता है हर उस राष्ट्र वासी से जो न्याय और अन्याय के बीच फर्क करना जानता है।यदि देश में निवास करने वाला प्रत्येक व्यक्ति यह ठान ले कि हमें अन्याय नहीं सहना है,अन्याय नहीं करना है तो राष्ट्र निर्माण की वह बुनियाद पड़ेगी जिस पर खड़ी होने वाली बुलंदियां विश्व व्यापी होंगी।
    इन्हीं बुलंदियों को गढ़ने के लिए "राष्ट्र सोच"उन सभी बिन्दुओं को अपनी आवाज प्रदान करेगा जो अब तक अछूते रहे हैं।इस प्रयास में जन-जन की भागीदारी की अपेक्षा है ताकि हर कोई गर्व से कह सके "जन-गण-मन अधिनायक जय हे..."

  • Copyright © 2017 RastraSoch.com. Powered by Sublime WebTech.
  • About


    सलाहकार संपादकः-प्रवीण चौहान   सलाहकार संपादकः-सुजाता सिंह


    संपादकः-अश्विनी कुमार             सह संपादकः-देवेंद्र शर्मा ‘देबू’

  • RASTRASOCH

    "राष्ट्र सोच"राष्ट्र प्रेम और कर्तव्यनिष्ठा की भावना से ओत-प्रोत एक ऐसा मंच है,जो आपके विचारों की प्रखरता को पूरी आजादी के साथ विश्व पटल पर प्रेषित करता है।उसकी इस भावना के पीछे छुपी हुई है वह "सोच"जो राष्ट्र निर्माण की भावना से अभिसिंचित है।वास्तव में राष्ट्र निर्माण एक ऐसी परिकल्पना है जिसमें राष्ट्र से जुड़े हर पहलू का ध्यान रखना आवश्यक है।
    कुछ लोग राष्ट्र निर्माण मात्र और मात्र राजनीतिक प्रतिनिधित्व से जोड़कर देखते हैं,परन्तु राष्ट्र निर्माण मात्र राजनीति से ही नहीं होता,राष्ट्र निर्माण होता है हर उस राष्ट्र वासी से जो न्याय और अन्याय के बीच फर्क करना जानता है।यदि देश में निवास करने वाला प्रत्येक व्यक्ति यह ठान ले कि हमें अन्याय नहीं सहना है,अन्याय नहीं करना है तो राष्ट्र निर्माण की वह बुनियाद पड़ेगी जिस पर खड़ी होने वाली बुलंदियां विश्व व्यापी होंगी।
    इन्हीं बुलंदियों को गढ़ने के लिए "राष्ट्र सोच"उन सभी बिन्दुओं को अपनी आवाज प्रदान करेगा जो अब तक अछूते रहे हैं।इस प्रयास में जन-जन की भागीदारी की अपेक्षा है ताकि हर कोई गर्व से कह सके "जन-गण-मन अधिनायक जय हे..."

  • 61 वें जन्मदिन के अवसर पर नरेंद्र मोदी ने देवव्रत जी को ढेर सारी शुभकामनाएं दी |

    0
    Showing 1 of 1

    61 वें जन्मदिन

    गुजरात: [मोनालिसा राज ] भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 18 जनवरी 2020 को गुजरात के राज्यपाल महामहिम देवव्रत जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर बधाई देने  पहुंचे । राज्यपाल के 61 वें जन्मदिन के अवसर पर उन्होंने राजपाल जी को फूल की बुके देकर उनके दीर्घायु होने के शुभकामनाएं एवं स्वस्थ होने की कामना की।

    About Author

    Leave A Reply

    WP2FB Auto Publish Powered By : XYZScripts.com